Thursday, 19 November 2020

kumar vishwas shayari    चंद चेहरे लगेंगे अपने से , खुद को पर बेक़रार मत करना ,  आख़िरश दिल्लगी लगी दिल पर? हम न कहते थे प्यार मत करना…  पनाहो...

Saturday, 14 November 2020

Ghalib Shayari  हैं और भी दुनिया में सुख़न-वर बहुत अच्छे कहते हैं कि ‘ग़ालिब’ का है अंदाज़-ए-बयाँ और दर्द मिन्नत-कश-ए-दवा न हुआ मैं न अच्छा ...