Tum Hi Aana lyrics - Jubin Nautiyal Lyrics


Singer Jubin Nautiyal
Music Payal Dev
Song Writer Kunaal Vermaa
English

Tere Jaane Ka Gam
Aur Na Aane Ka Gam
Phir Zamaane Ka Gam
Kya Karein?

तेरे जाने का ग़म
और ना आने का ग़म
फिर ज़माने का ग़म
क्या करें?

Raah Dekhe Nazar
Raat Bhar Jaag Kar
Par Teri To Khabar Na Mile

राह देखे नज़र
रात भर जाग कर
पर तेरी तो खबर ना मिले

Bahot Aayi Gayi Yaadein
Magar Iss Baar Tum hi Aana
Iraade Fir Se Jaane Ke Nahi Laana
Tum Hi Aana

बहुत आई गई यादें
मगर इस बार तुम ही आना
इरादे फिर से जाने के नहीं लाना
तुम ही आना

Meri Dehleez Se Hokar
Bahaarein Jab Gujarti Hai
Yahan Kya Dhup Kya Saawan
Hawayein Bhi Barashti Hai

मेरी दहलीज़ से होकर
बहारें जब गुजरती है
यहाँ क्या धूप क्या सावन
हवायें भी बरषति है

Hume Puchhon Kya Hota Hai
Bina Dil Ke Jiye Jaana
Bahot Aayi Gayi Yaadein
Magar Iss Baar Tum Hi Aana

हमें पूछों क्या होता है
बिना दिल के जिए जाना
बहुत आई गई यादें
मगर इस बार तुम ही आना

Oh Ooo..

Koyi To Raah Woh Hogi
Jo Mere Ghar Ko Aati Hai
Karo Peechha Sada Unn Ka
Suno Kya Kehna Chaahti Hai

ओ ओ…

कोई तो राह वो होगी
जो मेरे घर को आती है
करो पीछा सदा उन का
सुनो क्या कहना चाहती है

Tum Aaoge Mujhe Milne
Khabar Ye Bhi Tum Hi Laana
Bahot Aayi Gayi Yaadein
Magar Is Baar Tum Hi Aana

Marjaavaan..

तुम आओगे मुझे मिलने
खबर यह भी तुम ही लाना
बहुत आई गई यादें
मगर इस बार तुम ही आना

मर मरजावां..


This post have 0 Comments


Next article Next Post
Previous article Previous Post