Dhak Dhak Lyrics  - Nikhita Gandhi Lyrics


Singer Nikhita Gandhi
Song Writer Irshad Kamil
English

Internet ke gyani jaane
Kon Kabira Rumi hai
Love ke fundey Sunday Monday
Padh ke chakri ghoomi hai

इंटरनेट के ज्ञानी जाने
कौन कबीरा रूमी है
Love के Funde Sunday-Monday
पढ़ के चकरी घूमी है

Knowledge saari ho har taiyari ho
Par jab aati hai baari to
Kampann body mein
Halchal jeene mein
Aur phir seene mein jaari ho

Knowledge सारी हो हर तैयारी हो
पर जब आती है बारी तो
कंपन्न Body में
हलचल जीने में
और फिर सीने में जारी हो


Wahi dhak dhak, wahi dhak dhak
Huyi dhak dhak, ooui thak thak
Meri dhak dhak, meri dhak dhak
Wahi knocking, wahi locking
Wahi talking, wahi bakbak
Wahi dhak dhak, yahi dhak dhak
Chale dhak dhak, ruke dhak dhak
Kahaan tak tak, yahin tak tak
Kahaan dhak dhak, yahin dhak dhak
Wahin dhak dhak, rahi dhak dhak
Qayamat se, qayamat tak
Issi dhak dhak mein hai jeena

वही धक धक, वही धक धक
हुई धक धक, ऊई तक तक
मेरी धक धक, मेरी धक धक
वही knocking, वही locking
वही talking, वही बकबक
वही धक धक, यही धक धक
चले धक धक, रुके धक धक
कहाँ तक तक, यहीं तक तक
कहाँ धक धक, यहीं धक धक
वहीं धक धक, रही धक धक
क़यामत से, क़यामत तक
इसी धक धक में है जीना


Koi bole love lena hai
Koi bole dena hai
Definition iske laakhon
Definition mein ye na hai

कोई बोले Love लेना है
कोई बोले देना है
Definition इसके लाखों
Definition में ये ना है


Artificial hai ya orignal hai
Uljhan single hai saalon se
Ik din aayega bach na paayega
Apne dil ki tu taalon se

Artificial है या orignal है
उलझन single है सालों से
इक दिन आएगा बच ना पाएगा
अपने दिल की तू तालों से


Wahi dhak dhak, wahi dhak dhak
Huyi dhak dhak, ooui thak thak
Meri dhak dhak, meri dhak dhak
Wahi adchan, wahi tadpan
Wahi phislan, wahi jhakjhak
Wahi dhak dhak, yahi dhak dhak
Jagi dhak dhak, lagi dhak dhak
Kahaan tak tak, yahin tak tak
Kahaan dhak dhak, yahin dhak dhak
Wahin dhak dhak, rahi dhak dhak
Qayamat se, qayamat tak
Issi dhak dhak mein hai jeena


वही धक धक, वही धक धक
हुई धक धक, ऊई तक तक
मेरी धक धक, मेरी धक धक
वही अड़चन, वही तड़पन
वही फिसलन, वही झकझक
वही धक धक, यही धक धक
जागी धक धक, लगी धक धक
कहाँ तक तक, यहीं तक तक
कहाँ धक धक, यहीं धक धक
वहीं धक धक, रही धक धक
क़यामत से, क़यामत तक
इसी धक धक में है जीना


This post have 0 Comments


Next article Next Post
Previous article Previous Post