author photo

AGAR TUM SAATH HO lyrics - ALKA YAGNIK, ARIJIT SINGH Lyrics


Singer ALKA YAGNIK, ARIJIT SINGH
Music A.R. RAHMAN
Song Writer IRSHAD KAMIL
English

Behti rehti
Nahar, nadiya si
Teri duniya mein
Meri duniya hai teri chaahaton mein

पल भर ठहर जाओ
दिल ये संभल जाए
कैसे तुम्हें रोका करूँ
मेरी तरफ आता हर ग़म फिसल जाए
आँखों में तुम को भरूं
बिन बोले बातें तुमसे करूँ

Tu saath hai ho din raat hai
Agar tum saath ho
Tu saath hai ho din raat hai
Saaya saaya, maahi ve! maahi ve!
Meri har baat mein saath tu hai
Mahi Ve! Maahi Ve!
Mere saare haalaat tu

गर तुम साथ हो
अगर तुम साथ होतेरी नज़रों में है तेरे सपने
तेरे सपनों में है नाराज़ी
मुझे लगता है के बातें दिल की
होती लफ़्ज़ों की धोखेबाज़ी
तुम साथ हो या ना हो क्या फर्क है
बेदर्द थी ज़िन्दगी बेदर्द है
गर तुम साथ हो
अगर तुम साथ हो

Ho
Yeh jeena bhi, na jeena bhi
Hai dono ka tumse hi vaasta
Main hi to hoon tera pataa
Hai doosra naa koi raasta

पलकें झपकते दी दिन ये निकल जाए
बैठी बैठी भागी फिरूँ
मेरी तरफ आता हर ग़म फिसल जाए
आँखों एमीन तुम को भरूं
बिन बोले बातें तुमसे करूँ
गर तुम साथ हो
अगर तुम साथ हो

Tum saath ho ya na ho kya fark hai
Bedard thi zindagi bedard hai
Tu saath hai, din raat hai
Agar tum saath ho
Tu saath hai, din raat hai
Saaya saaya, maahi ve! maahi ve!
Meri sab raaz, kal-aaj, tu hai
Maahi ve! maahi ve!
Meri har udaan ek tu

तेरी नज़रों में है तेरे सपने
तेरे सपनों में है नाराज़ी
मुझे लगता है के बातें दिल की
होती लफ़्ज़ों की धोखेबाज़ी
तुम साथ हो या ना हो क्या फर्क है
बेदर्द थी ज़िन्दगी बेदर्द है

Pal bhar thahar jaao
Dil ye sambhal jaaye
Kaise tumhe roka karun
Meri taraf aata har gham phisal jaaye
Aankhon mein tum ko bharun
Bin bole baatein tumse karun
‘gar tum saath ho
Tum saath ho…

अगर तुम साथ हो
दिल ये संभल जाए
अगर तुम साथ हो
हर ग़म फिसल जाए
अगर तुम साथ हो
दिल ये निकल जाए
अगर तुम साथ हो
हर ग़म फिसल जाए


This post have 0 Comments


Next article Next Post
Previous article Previous Post